Dassehra 2022: ‘तुम हर साल रावण को इसलिए जलाते हो क्योंकि...’ अर्जुन रामपाल ने कही यह बात तो लोग रह गए हैरान
topStorieshindi

Dassehra 2022: ‘तुम हर साल रावण को इसलिए जलाते हो क्योंकि...’ अर्जुन रामपाल ने कही यह बात तो लोग रह गए हैरान

Dassehra Adipurush 2022: फिल्म आदिपुरुष में सैफ अली खान का रावण-लुक देख कर बहुत सारे लोग हैरान और नाराज हैं. हनुमानजी के लुक ने भी कइयों को नाराज किया है. दशहरे के साथ इन बातों की चर्चा तेज है. हिंदी सिनेमा के पर्दे पर रावण तमाम रूपों में दिखा और जला है. लेकिन अर्जुन रामपाल का रा.वन किरदार और संवाद दशहरे पर अक्सर याद आता है.

 

Dassehra 2022: ‘तुम हर साल रावण को इसलिए जलाते हो क्योंकि...’ अर्जुन रामपाल ने कही यह बात तो लोग रह गए हैरान

Dassehra Ravan In Films: लोग दशहरे पर हर साल रावण का पुतला जलाते हैं, इसके बावजूद उनके दिलों में कहीं न कहीं उसके प्रति सम्मान है. लोग रावण दहन के साथ यह भी याद रखते हैं कि शास्त्रों में उसे ब्राह्मण बताया गया और वह बहुत बड़ा विद्वान तथा शिव-भक्त था. यही वजह है कि दो दिन पहले फिल्म आदिपुरुष (Adipurush) के टीजर रिलीज के बाद बहुत से लोग इसलिए नाराज हैं कि इसमें रावण का चित्रण सही ढंग से नहीं किया गया. सैफ अली खान (Saif Ali Khan) इस फिल्म में यह रोल निभा रहे हैं और बहुत से लोगों ने इस बात पर आपत्ति जताई है कि निर्देशक ओम राउत (Om Raut) ने उन्हें जिस तरह दाढ़ी वाला लुक दिया है, वह इस्लामिक (Islamic) नजर आ रहा है. ऐसा नहीं है कि हिंदी सिनेमा के पर्दे पर पहली बार रावण को दिखाया जा रहा है. तमाम कलाकारों ने रावण का रोल निभाया है और सैकड़ों फिल्मों में रावण दहन दिखाया गया है.

मन से रावण जो निकाले...
राजकपूर की छलिया से लेकर राकेश ओम प्रकाश मेहरा की रंग दे बसंती और दिल्ली-6 में रावण दहन के खास दृश्य थे. निर्देशक आशुतोष गोवारिकर ने फिल्म स्वदेस में रामलीला और रावण दहन दिखाया था, जिसमें सीता बनी गायत्री जोशी अशोक वाटिका में गीत गाती नजर आती हैं, ‘पल पल है भारी.’ इस गीत में शाहरुख (Shah Rukh Khan) गाते हैं, ‘मन से रावण जो निकाले, राम उसके मन में है.’ गीत जावेद अख्तर ने लिखा था. लेकिन बीते कुछ दशक में रावण बने जिस करदार का डायलॉग लोगों को याद रह गया है, वह है फिल्म रा.वन में अर्जुन रामपाल.

इंग्लैंड से इंडिया तक
निर्देशक अनुभव सिन्हा की रा.वन (Ra.One) में अर्जुन रामपाल विलेन यानी रा.वन बने थे. वह एक वीडियो गेम का किरदार होते हैं, जो जिंदा होकर स्क्रीन से बाहर निकल आता है. रा.वन नाम का यह रोबोटिक विलेन एक नन्हें बच्चे की तलाश में इंग्लैंड से इंडिया आ जाता है क्योंकि वह उसे खत्म करना चाहता है. बच्चे की तलाश करते हुए जब रा.वन यानी अर्जुन रामपाल (Arjun Rampa) को पता चलता है कि उसके नाम का एक किरदार हिंदुस्तान है और उसका पुतला हर साल जलाया जाता है तो रा.वन कहता है, ‘तुम हर साल रावण को इसलिए जलाते हो, क्योंकि तुम जानते हो वह कभी नहीं मरता है.’ डायलॉग के साथ ही अर्जुन रामपाल रावण के जलते हुए पुतले के बीच से निकल कर दिखाई देते हैं और पीछे अपने दस सिरों के साथ धू-धू जलता रावण स्क्रीन पर नजर आता है.

ये ख़बर आपने पढ़ी देश की नंबर 1 हिंदी वेबसाइट Zeenews.com/Hindi पर

Trending news